Home > Uncategorized > बनारस को क्योटो बनाने की तैयारी शुरु, पहली बैठक सम्पन्न

बनारस को क्योटो बनाने की तैयारी शुरु, पहली बैठक सम्पन्न

January 15, 2015 Leave a comment Go to comments
1883 में बनारस

1883 में बनारस

प्राचीन शहर वाराणसी (बनारस) को हाई-टेक शहर क्योटो बनाने की प्रक्रिया शुरु हो गई है। इस हफ्ते क्योटो-वाराणसी संचालन समिती की पहली बैठक के साथ पहला यह प्रक्रिया अब शुरु कर दी गई है।

पहली बैठक में दोनों शहरों में समानताओं पर बातचीत हुई और प्राचीन शहर की ऐतिहासिक समृद्धि और संस्कृति को ध्यानमें रख कर पर्यटन और विकास की दिशा में कैसे प्रगति की जाए इस विषय पर चर्चा की गई।

दोंनों शहरों के बीच मौजूद समानताओं पर चर्चा हुई जिसमें से एक है यह दोनों शहर हर साल लाखों पर्यटकों को अपनी तरफ खींचते हैं। जहां सालाना 500 लाख पर्यटक क्योटो शहर (जिसे एक हज़ार तीर्थ स्थलों को शहर भी कहते हैं) आते हैं वहीं तकरीबन 50 लाख पर्यटक भातर के मंदिरों के शहर वाराणसी में गंगा के घाट घूमने आते हैं।

क्योटो शहर के विकास की पहल के तहत – संस्कृति की सुरक्षा, शहरी नियोजन में खास बदलाव, शहरी कूड़े में कमी करना तथा उसका उचित निपटारा करना, सड़कों में विज्ञापन  लगाने पर पूरी तरह रक लगाना, नदी तटों का विकास जैसे पदक्षेप शामिल किए गए थे।

साथ ही जैव उर्जा का विकास, जैव उर्जा उत्पादन संबंधित प्रकल्प लगाना, कूड़े से उर्जा (बिजली) बनाने की तकनीक का इस्तेमाल, घर से निकलने वाले कूड़े और म्यूनिसिपल कूड़े का उचित उपचार संबंधित प्रकल्पों का लगाना भी शामिल हैं।

वाराणसी को क्योटो बनाने की इस कवायद में भारत क्योटो से सीख लेते हुए, दोनों राष्ट्रों के बीच साथ में काम कर सकनेपर विचार होगा। दोनों राष्ट्रों के मध्य आर्थिक, तकनीकी और संस्थागत साझेदारी से यह विकास संभव होगा।

चित्र आभार:1883 में बनारस, एडविन लॉर्ड वीक्स

Advertisements
  1. No comments yet.
  1. No trackbacks yet.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s